शिक्षा मंत्री Jagarnath Mahto का बड़ा ऐलान इन विद्यालयों को मिलेगा दोगुना अनुदान

Jharkhand के संस्कृत विद्यालयों और मदरसा के 536 शिक्षकों व कर्मचारियों को दोगुना अनुदान को लेकर झारखंड के शिक्षा मंत्री जगन्नाथ महतो (Jagarnath Mahto ) ने अपनी मंजूरी दे दी है स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग के प्रस्ताव पर शिक्षा मंत्री ने अपनी मंजूरी दी प्रस्ताव को अब अगले सप्ताह वित्त विभाग को भेज दिया जाएगा वित्त व कैबिनेट की मंजूरी के बाद 33 संस्कृत विद्यालयों और 43 मदरसा के शिक्षकों व कर्मचारियों को यह अनुदान इसी वित्तीय वर्ष 2022 से 23 से भुगतान हो सकता है झारखंड के 33 सांस्कृतिक विद्यालयों में 250 और 43 मदरसा में 286 शिक्षक व कर्मी कार्यरत है ।
वित्त रहित हाईस्कूल और इंटर कॉलेज को पूर्व से ही दुगना अनुदान मिल रहा है लेकिन सिलेब नहीं होने के कारण 2015 संस्कृत विद्यालय व मदरसा को सिंगल अनुदान दिया जा रहा था ऐसे में शिक्षा मंत्री के तरफ से बड़ा ऐलान की बात सामने आ चुकी है दुगना अनुदान हो जाने से राज्य के प्राथमिक संस्कृत विद्यालय और आस्तीन या तक की पढ़ाई होने वाले मदरसा को करीब 1.80 लाख राशि की जगह 3.20 लाख दी जाएगी ।
प्राथमिक संस्कृत विद्यालय में 8 Class तक की पढ़ाई होने वाले मदरसा को ₹3.60 लाख का दोगुना की राशि अनुदान के तौर पर दिया जाएगा

Jharkhand Vidhansabha में के पास उठाया गया था यह मामला

सांस्कृतिक विद्यालयों और मदरसा को दोगुना अनुदान देने के लिए झारखंड विधानसभा में बजट सत्र में मामला उठाया गया था कांग्रेस विधायक दीपिका सिंह पांडे ने ध्यानाकर्षण के माध्यम से इस मामले को उठाया था इसके बाद सरकार ने इस पर कार्रवाई का भरोसा दिया था शिक्षा विभाग ने प्रस्ताव तैयार किया और उसे शिक्षा मंत्री के पास मंजूरी के लिए भेज दिया था मंत्री की मंजूरी मिलने के पास से अब का पहला चरण शुरू हो गया है

 फैसले को लेकर झारखंड के विद्यालयों में हर्षोल्लास है संघ ने इसको लेकर शिक्षा मंत्री का आभार जताया है अब दोगुना अनुदान मिलने की वजह से भुखमरी तक की स्थिति नहीं बन पाएगी

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here